ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज दशहरा व दिवाली विशेष
विश्व जैव विविधता दिवस की पूर्व संध्या पर पर्यावरण मित्र ने सड़क किनारे लगाई प्रदर्शनी
May 22, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
दैनिक अयोध्या टाइम्स
ब्यूरो (संजय द्विवेदी)कानपुर देहात
रूरा कानपुर देहात।आमतौर पर पृथ्वी पर उपस्थित जीवन की विविधता और परिवर्तन शीलता को सन्दर्भित करने के लिए विश्व जैव विविधता दिवस मनाया जाता है।ये विविधताएँ आनुवंशिक, प्रजातीय, पारिस्थितिकी होती हैं
।उक्त बातें पर्यावरण मित्र नवीन कुमार दीक्षित ने मण्डी समिति के सामने रूरा में जैवविविधता पर मोर,बाघ,साँप,मानव, कबूतर, तितली, मेंढक, टिड्डी वृक्ष स्वनिर्मित माडल से प्रदशर्नी लगाकर उधार से गुजर रहे राहगीरों को पशु पक्षियों के संरक्षण का अनुरोध करते हुए कही। इस अवसर पर राज्य अध्यापक पुरस्कार प्राप्त शिक्षक कैलाश नाथ पाल ने कहा कि हमारे देश
में वर्ष 2002 में संसद द्वारा जैव विविधता के संरक्षण लिए संघीय कानून पारित किया है।पौधे और जीव अन्योन्याश्रित हैं पारिस्थितिकी सन्तुलन बनाए रखने लिए जैव विविधता का संरक्षण आवश्यक है। अन्तराष्ट्रीय गांधी पर्यावरण योद्धा सम्मान प्राप्त शान्या ने कहा कि जनसंख्या विस्फोटक, वनों का कटान,वायु, मृदा,जल प्रदूषण ग्लोबल वार्मिग जैव विविधता के लिए खतरा बना हुआ है। केवी माती के छात्र शिवम ने कहा कि सर्वाधिक जैव विविधता अमेजन कुछ वर्षा वनों को माना जाता है। राह गीर रुक रुक कर पक्षियों और पशुओं के जीवन्त माडल को देख कर प्रसन्न और रोमान्चित होकर पशु पक्षियों के लिए दाना पानी रखने का आश्वासन देते नजर आए। इस प्रदर्शनी को अशोक कुमार, मोना, अर्चना, सतीश,नवनीत, आदर्श, प्रकुल्ल,विनय,गरिमा, आशुतोष शुक्ला,शिखा, बृजबिहारी आदि ने शोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए देखा।