ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
विनोद वर्मा 'दुर्गेश' को मिला रिश्तों की शान सम्मान 
June 17, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • लेख
तोशाम जिला भिवानी हरियाणा के युवा कवि एवं साहित्यकार विनोद वर्मा 'दुर्गेश' को बदलाव मंच (बम) के तत्वावधान में संचार माध्यम द्वारा 'बदलते रिश्ते' शीर्षक पर साप्ताहिक प्रतियोगिता के आयोजन में सर्वश्रेष्ठ लेखन के लिए 'रिश्तों की शान' सम्मान से अलंकृत किया गया। विनोद वर्मा 'दुर्गेश' को को अब तक 'जयलाल दास स्मृति साहित्य सम्मान -2018', 'निर्मला स्मृति हरियाणा गौरव सम्मान -2019', 'चंदन साहित्य मंच, विशिष्ट सम्मान', 'सरस्वती पुत्र सम्मान', 'नीरज शब्द शिल्पी सम्मान', 'साहित्य संगम संस्थान प्रदत्त 'समीक्षाधीश सम्मान', साहित्य संगम संस्थान नई दिल्ली द्वारा श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान, साहित्य संगम संस्थान नई दिल्ली द्वारा श्रेष्ठ टिप्पणीकार सम्मान, संगम गौरव सम्मान, तुलसीमीर सम्मान, मधुशाला काव्य गौरव सम्मान, कोरोना समीक्षक सम्मान, श्रेष्ठ दोहाकार सम्मान, काव्य साधक सम्मान, हिंदी साहित्य रत्न सम्मान से नवाजा जाना चुका है। गौरतलब है कि विनोद वर्मा 'दुर्गेश' साहित्य की विभिन्न विधाओं कविता, लघु कथा, समीक्षा, आलेख, दोहा गीत आदि में अपनी लेखनी बखूबी चलाते आए हैं। आॅनलाइन कवि सम्मेलन व अन्य गतिविधियों में भी इनकी सक्रिय सहभागिता रहती है। इस कारण इन्हें आए दिन कोई न कोई सम्मान मिल ही जाता है। विनोद वर्मा 'दुर्गेश' विभिन्न मंचों से जुड़े हुए हैं। अभी हाल ही में 'मेरी कलम मेरी पूजा कीर्तिमान साहित्य मंच' ने इन्हें 'साहित्य गौरव सम्मान' से सम्मानित किया गया था। 16 मई को वर्तमान अंकुर साहित्य समूह द्वारा आयोजित आडियो-वीडियो प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन पर भी इन्हें श्रेष्ठ सम्मान से नवाजा गया है। 17 मई को वर्तमान अंकुर साहित्य समूह द्वारा आयोजित लघुकथा, कहानी, आलेख, संस्मरण प्रतियोगिता में प्रदत्त विषय 'घर तक का सफर' पर सर्वश्रेष्ठ सृजन हेतु श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान से अलंकृत किया है। इनकी इस विशेष उपलब्धि पर इनके साहित्यिक मित्रों ने इन्हें बधाई प्रेषित की है।