ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज दशहरा व दिवाली विशेष
थाना ठाकुरगंज क्षेत्र में बदमाशों ने दिया एक वारदात को अंजाम
June 4, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
संवाददाता उजैर अहमद की रिपोर्ट।
लखनऊ पुलिस से बेखौफ बदमाशों ने आज सुबह मार्निंग वाक पर निकले 70 वर्षीय बुज़ुर्ग से मारपीट कर उन्हें ज़मीन पर पटकने के बाद उनके गले से चैन लूट ली और फरार हो गए। लूट की ये घटना ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में माली खा सराय के पास कालीचरण डिग्री कॉलेज के पीछे उस स्थान पर हुई जहां पर करीब 3 वर्ष पूर्व प्राइवेट कंपनी के एकाउंटेंट आशीष कुबरेले बदमाशों द्वारा 2 गोलियां मारी गई थी। 
हैरत की बात यह है कि वही कमिश्नर कुमार पांडे द्वारा मॉर्निंग वॉक पर निकलने वाले लोगों की सुरक्षा के लिए चलाई गई नमस्ते लखनऊ मुहिम अभी जारी है। यहां हैरत की बात यह भी है कि घटना सुबह 5 बजे हुई लेकिन डीसीपी पश्चिम सर्वेश त्रिपाठी दोपहर 2 बजे तक इस घटना से अनजान रहे। इंस्पेक्टर ठाकुरगंज का कहना है कि इस संबंध में अभी तक कोई मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है। तहरीर आने के बाद मुकदमा दर्ज कर बदमाशों की तलाश की जाएगी। लूट ये घटना वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है।
जानकारी के अनुसार ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में स्थित बजरंगी लाल साहू इंटर कॉलेज के संस्थापक 70 वर्षीय बुजुर्ग गंगा प्रसाद साहू अपने परिवार के साथ चौक थाना क्षेत्र के नाई बाड़ा में रहते हैं। गंगा प्रसाद साहू आज सुबह अपने घर से मॉर्निंग वॉक के लिए निकले थे कभी उन्हें कालीचरण डिग्री कॉलेज के पीछे स्थित सरस्वती मंदिर के द्वार के पास मोटरसाइकिल सवार दो बदमाशों ने रोककर उनसे मारपीट की और उन्हें जमीन पर पटक दिया। 
इससे पहले कि गंगा प्रसाद साहू कुछ समझ पाते बदमाश उनके गले से सोने की चेन लूटकर फरार हो गए। ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में सुबह करीब 4:45 बजे हुई लूट की यह पूरी घटना वहां आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। बुजुर्ग गंगा प्रसाद साहू के भतीजे सुनील साहू ने बताया कि घटना की जानकारी ठाकुरगंज पुलिस को दे दी गई है। इस संबंध में इंस्पेक्टर ठाकुरगंज प्रमोद मिश्रा का कहना है कि घटना की सूचना मिली है। 
घटनास्थल का निरीक्षण किया जाएगा तहरीर अभी नहीं आई है तहरीर आने के बाद मुकदमा दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरू की जाएगी। यहां हैरत की बात यह है कि घटना सुबह पौने पांच बजे की बताई जा रही है और डीसीपी पश्चिम सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी को इस सनसनीखेज घटना की जानकारी दोपहर करीब 2:00 बजे तक नहीं थी। इससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि ठाकुरगंज पुलिस ने इस घटना को न सिर्फ मीडिया से छुपाने की कोशिश की बल्कि अपने अधिकारियों को भी इस घटना से अनजान ही रखा। डीसीपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी का कहना है कि वो घटना की जानकारी हासिल करेंगे।