ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
ताबिस की हत्या का खुलासा दो हत्यारे गिरफ्तार
June 1, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
दैनिक अयोध्या टाइम्स,रामपुर- थाना गंज क्षेत्र में ताबिश पुत्र अरशद उर्फ बब्बू नि0 ईद गाह शाहबाद गेट थाना कोतवाली जनपद रामपुर की गोली मारकर आजाद पुत्र अजहर कमाल निवासी मौ0 अजीतपुर थाना सि0ला0 व दो नाम पता अज्ञात व्यक्तियों द्वारा हत्या कर दी गयी थी। पुलिस अधीक्षक द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण किया गया तथा घटना में संलिप्त हत्यारों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीमें गठित कर उनकों आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये थे। उक्त के क्रम में एस0ओ0जी0 व थाना गंज, रामपुर की संयुक्त पुलिस टीम के अथक प्रयासों से आज दिनांक 01.06.2020 को आजाद कमाल पुत्र अजहर कमाल निवासी अजीतपुर थाना सि0ला0 रामपुर व उसके (सौतेले भाई) सहअभियुक्त शहजाद उर्फ जोसेफ पुत्र सद्दीक नि0 ग्राम सकरस थाना बहैडी जनपद बरेली को समय करीब 00.05 बजे जौहर पुलिया से गिरफ्तार किया गया तथा अभियुक्तगण के कब्जे/निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त की गयी स्पलेंडर मोटर साईकिल एवं आला कत्ल 02 तमंचे 315 बोर व दोनों तमचों की नाल में फसे हुए दो कारतूस बरामद हुए।गिरफ्तार अभियुक्तगण का नाम व पता
01. आजाद कमाल पुत्र अजहर कमाल निवासी अजीतपुर थाना सि0ला0 रामपुर। उम्र-32 वर्ष।
02. शहजाद उर्फ जोसेफ पुत्र सद्दीक नि0 ग्राम सकरस थाना बहैडी जनपद बरेली। उम्र-26 वर्ष। 
गिरफ्तार अभियुक्त आजाद कमाल द्वारा पूछताछ में बताया कि विगत 12 साल पूर्व मेरा निकाह अलीसा खान उर्फ रानी के साथ हुआ था। हमारे पाॅच बच्चें है, जिसमे से 02 लडके तथा 03 लडकिया है। लगभग दो सालों से मृतक ताबिस का मेरे घर आना जाना था। इसी दौरान ताबिस ने मेरी पत्नी को अपने प्रेम जाल में फसा लिया। इस कारण हम दोनों में झगडे होने लगे थे। लगभग 02 माह पूर्व मेरी पत्नी अलीसा उर्फ रानी अपने साथ मेरे 05 वर्षीय बेटे अली व डेढ वर्षीय पुत्री आयत को लेकर मेरे घर से चली गई थी। ताबिस ने मेरी पत्नी को डूंगरपुर आसरा कालौनी में कमरा दिलवा दिया और स्वयं भी उसके पास आने जाने लगा। इस बात को लेकर मैं बहुत परेशान रहने लगा। मेरे समझ में नहीं आ रहा था कि मैं क्या करू और क्या न करू फिर मैने अपने सौतेले भाई (एक माँ के) शहजाद उर्फ जोसेफ पुत्र सद्दीक उपरोक्त को सारी बात बतायी इसी बीच मैंने फोन से अपनी पत्नी से कई बार बात की। अपने बच्चों को भी अपनी माँ (मेरी पत्नी) से मिलने के लिये उसके पास भेजा परन्तु अपनी पत्नी के बरताव से तंग आकर मेैने अपने भाई शहजाद उर्फ जोसेफ के साथ ताबिस को जान से मारने की योजना बनायी और दिनांक 26.05.2020 को मैं व शहजाद ताबिस की तलाश में डूंगरपुर आसरा कालौनी गये तभी ताबिस पर मेरी निगाह पडी वह मोटर साईकिल से पक्षी बिहार की तरफ जा रहा था। हम दोनों उस पर नजर रखते हुए सदर तहसील के सामने झुंडो में छिपकर खडे हो गये जैसे ही ताबिस की मोटर साईकिल हमारे पास आयी। हम दोनों ने उसको रोक लिया और पहले से ही लोड अपने-अपने 315 बोर के तमंचो से फायर किया। एक गोली उसकी कनपटी में लगी जिसकी उसकी मृत्यु हो गयी। इसके बाद हम दोनो अपनी मोटर साईकल से स्वार बस अड्डा होते हुए, नानकार को जाने बाले बाईपास तिराहे पर लगे नल पर आये वहां हम लोगो ने अपने हाथ पैर धुले पानी पिया और अपने तमंचो को वहीं पर छुपाया, इसके बाद मैं कई दिनों तक इधर उधर भागता रहा। शहजाद ने आजाद के व्यान का पूर्ण समर्थन किया।मृतक का नाम व पता ताबिस पुत्र अरशद उर्फ बब्बू नि0 ईदगाह शाहबाद गेट थाना कोतवाली रामपुर।02 अद्द नाजायज तमंचें 315 बोर मय 02 खोखा कारतूस 315 बोर नाल में फसे हुए तथा घटना के दौरान प्रयुक्त की गयी स्पलेंडर मोटर साईकिल नम्बर यूपी 22 ए.एम 1318 बरामद हुई। मु0अ0सं0-183/20 धारा-302 भादवि बनाम आजाद कमाल आदि 02 नफर।
मु0अ0सं0-188/20 धारा-3/25 आम्र्स एक्ट बनाम आजाद कमालमु0अ0सं0-189/20 धारा-3/25 आम्र्स एक्ट बनाम शहजाद उर्फ जोसेफ।