ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज दशहरा व दिवाली विशेष
सोसल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रख कर मुख्यमंत्री को  सौपा ज्ञापन
May 29, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
  *प्रदुम दीक्षित संवाददाता लखनऊ दैनिक अयोध्या टाइम्स*
 लखनऊ :- अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष डॉ हरिश्चन्द्र पटेल के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों  प्रतापगढ़, रायबरेली एवं बांदा आदि जिलों में कुर्मी समाज के साथ हो रहे अत्याचार को लेकर महामहिम राज्यपाल एवं माननीय मुख्यमंत्री महोदय जी उत्तर प्रदेश सरकार के नाम प्रदेश व्यापी ज्ञापन दिया जा रहा है। 
      सन 2017 में उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली कृषक कुर्मी समाज पर बीजेपी के संरक्षित गुंडों द्वारा सबसे अधिक हत्या एवं अत्याचार किया जा रहा है। जिससे पूरे प्रदेश में कृषक कुर्मी समाज में भारी आक्रोश और भय व्याप्त है। जिसमें पुलिस प्रशासन बीजेपी संरक्षित  दबंगो के साथ सरकारी एजेंट की भूमिका निर्वहन कर रही है। महोदय जी 20 से 23 मई 2020 के मध्य कुर्मी समाज पर हुई प्रमुख घटनाएं माननीय राज्यपाल महोदय जी एवं मुख्यमंत्री महोदय जी उत्तर प्रदेश सरकार के समक्ष न्याय दिलाए जाने हेतु प्रस्तुत है:-----
(01) दिनांक 25 मई 2020 को गोविंदपुर बनाम भुई, पट्टी, प्रतापगढ़ में दबंग राम आसरे तिवारी के लड़के अनिल तिवारी ने कृषक कुर्मी परिवार  नन्हे पटेल के खेत में छुट्टा जानवरों को फसल चरने के लिए हांक दिया। जिसका कुर्मी नन्हे पटेल के लड़कों ने विरोध किया और कहा कि अपने जानवर को आप लोग हाक ले जाइए। इस पर दबंगों ने गाली देते हुए कहा कि तुम कुर्मी, कोइरी लोगों की इतनी हिम्मत हो गई है कि हमारे सामने सर उठा कर बात करोगे। इसके बाद दोनों पक्षों में काफी नोकझोंक हुई। तदुपरांत किसी ने 112 नंबर पर फोन कर पुलिस को सूचना दे दिया थोड़ी देर में पुलिस आ गई और सुलह समझौता करा दी। इसी दौरान भुई गांव के दबंगों ने गांव से थोड़ी दूर पर परसद में कृषक कुर्मी परिवार के 2 लोगों को बुरी तरह मारपीट कर लहूलुहान कर दिया। इसकी जानकारी जब कृषि परिवार के लोगों को हुई तो वे दौड़कर गए और बीच-बचाव किया। दबंग गुंडे आगे देख लेने की धमकी देते हुए चले गए। इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल भी पहुंच चुकी थी। पट्टी क्षेत्र के दबंग नेताओं के इशारे पर अनिल तिवारी, राम आसरे तिवारी, विवेक तिवारी, ललित तिवारी, अवनीश तिवारी, आदि ने कई गांव के बीजेपी के संरक्षित दबंगों को एकत्रित कर पुलिस की उपस्थिति में नन्हे पटेल के घर पर धावा बोल दिया। वे महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों एवं युवाओं को दौड़ा-दौड़ा कर के  बुरी तरह मारा पीटा और लहूलुहान कर दिया। दबंगों ने नन्हे वर्मा के घरों में आग लगा दिए, जिससे घर में रखे लाखों रुपए के जीवन उपयोगी सामान जलकर खाक हो गए। दबंगों ने जानवरों को भी आग के हवाले कर दिया। जिससे 3 भैंसे जलकर मर गई और कई घायल है। इस दौरान पुलिस चुपचाप खड़ी रही और कुछ पुलिस वाले दबंगों को सह भी देते रहे। दबंगों के तांडव के बाद पुलिसिया तांडव शुरू हुआ और पुलिस वालों ने कृषक कुर्मी परिवार के लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा और लगभग 30 से अधिक लोगों को थाने में ले जाकर बंद कर दिए। जिसमें 10 महिलाएं भी थी। पुलिस ने दबंगों की ओर से एफ आई आर दर्ज कर लिया। लेकिन बीजेपी के स्थानीय मंत्री के इशारे पर नन्हे पटेल की ओर से पुलिस ने एफ आई आर दर्ज नहीं किया और न तो पटेलों का तत्काल मेडिकल कराया। पुलिस प्रशासन एवं मेडिकल विभाग बीजेपी के मंत्री एवं स्थानीय बीजेपी के नेताओं के दबाव में लगातार कार्य कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में पीड़ित पक्ष को न्याय मिलना संभव प्रतीत नहीं होता है। इस घटना को लेकर पूरे उत्तर प्रदेश के कुर्मी समाज में बीजेपी सरकार एवं उनके नेताओं के प्रति भारी आक्रोश व्याप्त है।
        (02) दिनांक 22 मई 2020 को ग्राम सभा मुरैनी, थाना - संग्रामगढ़ कुंडा, प्रतापगढ़ में नल के पानी के निकास की नाली को लेकर कृषक कुर्मी परिवार पर लगभग 25 की संख्या में बीजेपी के मनुवादी दबंग ठाकुरों ने जानलेवा हमला कर राज बहादुर पटेल की हत्या कर दिया। इस हमले में सात - आठ महिलाएं, बच्चे तथा युवा बुरी तरह से घायल है वे भी जीवन और मौत से जूझ रहे हैं। इस घटना में पुलिस प्रशासन का रवैया बेहद भेदभाव पूर्ण रहा और पटेल परिवार के लोगों को दबंगों के इशारे पर पुलिस द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है।
          (03) दिनांक 20 मई 2020 को ग्राम बरियारपुर, थाना - कालिंजर, जनपद बांदा में अपना दल यस के पूर्व जिला अध्यक्ष मंगल पटेल के घर पर अंकित द्विवेदी निवासी - पयारी, थाना धर्मपुर, जिला पन्ना, मध्य प्रदेश ने घर में घुसकर रेप करने का प्रयास किया। महिला ने अंकित द्विवेदी को धक्का देते हुए जोर से चिल्लाई तो घर के लोग उठे और उनके द्वारा शोर मचाने पर अंकित द्विवेदी महिला के गले से सोने की चेन खींचकर जीने के रास्ते छत पर चढ़कर नीचे कूद गया। जिससे उसके शरीर में गंभीर चोटें आई थी। रात में शोर मचाने पर रात में ही गांव के कुछ लोग इकट्ठा हो गए थे। उसे कुछ लोगों ने थप्पड़ों से मारा भी था। रात में ही अंकित द्विवेदी के पिता को फोन करके घटना की जानकारी दी गई। रात में लगभग 4:00 बजे पुलिस आई और अंकित द्विवेदी को लेकर चली गई। अस्पताल में इलाज के दौरान पुलिस कस्टडी में उसकी मृत्यु हो गई। अंकित द्विवेदी के पिता ने घटना की जानकारी लेने के बाद मंगल पटेल और पुलिस पर हत्या का आरोप लगाया जिसकी वीडियो रिकॉर्डिंग उपलब्ध है। लेकिन पुलिस ने अपने को बचाने के लिए मंगल पटेल सहित वीरेंद्र पटेल, बाबू पटेल और पूर्व प्रधान प्रत्याशी लाल पटेल को स्थानीय बीजेपी के विधायक के दबाव में धारा 304 आईपीसी का मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया। जबकि पीड़ित महिला के प्रार्थना पत्र पर पुलिस ने विचार न करते हुए एफ आई आर दर्ज करने से मना कर दिया। पीड़ित महिला ने बार-बार गुहार लगाई कि हमारे और घर के लोग बेकसूर हैं। उन लोगों को झूठे मुकदमे में फंसा दिया गया है लेकिन पुलिस ने अपने बचाव के कारण उनकी एक भी नहीं सुनी।
         (04) दिनांक 23 मई 2020 को ग्रामसभा बहुदा, थाना शिवगढ़, जनपद रायबरेली में कुर्मी कृषक परिवार के अपना दल यस के क्षेत्रीय नेता वेद प्रकाश पटेल की 23 मई की रात में अज्ञात गुंडों ने हत्या कर दी। परिवार के लोग जब हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए थाने गए तो क्षेत्रीय नेताओं के दबाव में पुलिस हिला - हवाली करती रही। पुलिस इस घटना को दबाने की कोशिश कर रही है। जिससे लोगों में भारी आक्रोश व्याप्त है।