ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज दशहरा व दिवाली विशेष
समीक्षात्मक बैठक में मुख्यमंत्री ने सभी कक्षाओं के लिए ई-कंटेंट डेवलप करने का दिया निर्देश
May 21, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • बिहार
पटना (संवाददाता)  - मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के निर्देश पर सचिव सूचना एवं जन-सम्पर्क श्री अनुपम कुमार, सचिव स्वास्थ्य श्री लोकेश कुमार सिंह एवं अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय श्री जितेन्द्र कुमार ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये किये जा रहे कार्यों की अद्यतन जानकारी दी । सचिव सूचना एवं जन-संपर्क श्री अनुपम कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति को लेकर सरकार सभी आवश्यक कदम उठा रही है। कल हुई समीक्षात्मक बैठक में मुख्यमंत्री ने सभी कक्षाओं के लिए ई-कंटेंट डेवलप करने का निर्देश दिया है ताकि विद्यार्थियों को ऑनलाइन शिक्षा प्रदान करने में सहूलियत हो सके। शिक्षा विभाग कक्षा 06 से लेकर 12 तक के लिए ई-कंटेंट डेवलप कर चुका है। उन्नयन बिहार के अन्तर्गत वर्ग 09 एवं 10 के छात्र-छात्राओं को भी ऑनलाइन की शिक्षा दी जा रही है। इसके अलावा पाठ्यक्रम की टेक्स्टबुक के भी डिजिटाइज करने का माननीय मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है ताकि सभी विद्यार्थियों को ये आसानी से शिक्षा उपलब्ध हो सके और वे उसका उपयोग कर सकें। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि सभी बचे हुये लोगों का आधार कार्ड बनवा दिया जाय। सभी प्रखंडों के आधार सेंटर्स को स्थायी रूप से फंक्शनल कर दिया जाए ताकि किसी को आधार कार्ड बनवाने में दिक्कत नहीं हो। जिलों में बने डी0आर0सी0सी0 सेंटर में ऑनलाइन आधार कार्ड हेतु पूरी व्यवस्था कर दी जाय। कल तक 27 जिलों में यह व्यवस्था कर दी गयी है शेष जिलों में भी माननीय मुख्यमंत्री ने इसकी व्यवस्था करने का निर्देश दिया है। सचिव, सूचना एवं जन-संपर्क ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री ने श्रम संसाधन विभाग को निर्देश दिया है कि एक्स्ट्रा टाइम में वेजेज को लेकर ब्संतपपिबंजपवद निर्गत कर दिया जाय। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्र के गरीबों के लिए अफोर्डेबल हाउसिंग (किफायती अवास) है, मुहैया कराने का नगर विकास एवं आवास विभाग को माननीय मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है। बिहार में स्ट्रीट वेंडर्स की संख्या काफी है माननीय मुख्यमंत्री ने स्ट्रीट वेंडर्स का सर्वे ठीक से कराने का निर्देश दिया है ताकि कोई भी स्ट्रीट वेंडर्स छूटे नहीं और उनके लिए जो भी योजना बने, उसका पूरा लाभ उन्हें मिल सके। सचिव सूचना ने बताया कि वर्तमान में आपदा राहत केन्द्रों की संख्या 152 है, जिसका 70,000 लोग लाभ उठा रहे हैं। ब्लॉक क्वारंटाइन केन्द्रों की संख्या बढ़कर 8,661 हो गई है, जिसमें 6 लाख 40 हजार 399 लोग आवासित हैं। लॉकडाउन में बाहर फंसे लोगों से अब तक 2 लाख 18 हजार कॉल/मैसेजेज प्राप्त हुए हैंजिसके आधार पर संबंधित राज्य सरकारों एवं प्रशासन से समन्वय स्थापित कर उनकी समस्याओं का निरंतर समाधान कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष से मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना अंतर्गत बाहर फंसे 20 लाख 3 हजार 318 लोगों के खाते में 1,000 रूपये की राशि भेज दी गयी है। श्री अनुपम कुमार ने बताया कि अधिक से अधिक रोजगार सृजन हो, इसके लिए हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं। रोजगार सृजन के लिए लगभग 4 लाख 13 हजार योजनाओं के अन्तर्गत अब तक 2 करोड़ 64 लाख से ज्यादा मानव दिवस सृजित किये जा चुके हैं। रोजगार सृजन को लेकर सभी संबंधित विभाग लगातार अनुश्रवण भी कर रहे हैं। अभी तक 1 करोड़ 31 लाख राशन कार्डधारी परिवारों के खाते में 1,000 रूपये की राशि भेज दी गयी है। इसके अलावा जीविका और एन0यू0एल0एम0 से जो राशनकार्ड-विहीन परिवार चिन्हित थे, उनमें से अभी तक 13 लाख परिवारों को यह राशि दे दी गयी है और शेष चिन्हित परिवारों के खाते में राषि भेजने की प्रक्रिया जारी है। राशन कार्ड बनाने का काम तेजी से चल रहा है और अब तक 8 लाख 40 हजार राशनकार्ड-विहीन परिवारों के नये राशन कार्ड बनाये जा चुके हैं। बाहर से इच्छुक लोगों को जल्द से जल्द बिहार लाकर उन्हें गंतव्य तक पहुंचाने के लिए अधिक से अधिक ट्रेनों एवं लगभग 4,500 बसों की व्यवस्था की गयी है। कल के लिए 70 ट्रेनें शिड्यूल्ड हैं। इन ट्रेनों में 1 लाख 14 हजार 200 लोग ट्रेवल करेंगे। बाहर से जो भी लोग बिहार आने के इच्छुक हैं उन्हें लाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। श्री अनुपम कुमार ने कहा कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए मीडिया भी लोगों को जागरूक करती रहे ताकि लोग सकारात्मक रहें। लोग धैर्य रखें, सरकार सभी आवश्यक कदम उठा रही है। स्वास्थ्य विभाग के सचिव श्री लोकेश कुमार सिंह ने बताया कि अब तक कुल 53,361 जांच किया गया है जिसमे कोविड-19 के 1607 पॉजिटिव मामले मिले हैं। कुल सैंपल जांच में 3 प्रतिशत व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं। कल 2,798 सैम्पल की जांच की गयी जिनमें 137 पॉजिटिव केसेज पाए गये हैं। पिछले 24 घंटे में 37 व्यक्ति ठीक हो कर घर जा चुके हैं और अब तक 571 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ हुए हैं जो कुल संक्रमित व्यक्तियों का लगभग 36 प्रतिशत है। 3 मई के बाद 788 प्रवासी व्यक्तियों में कोविड-19 केसेज पाए गए हैं। इसमें दिल्ली से 249, महाराष्ट्र से 187 और गुजरात से आने वाले 158 व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय श्री जितेन्द्र कुमार ने बताया कि लॉकडाउन का सख्ती से अनुपालन कराया जा रहा है। अब तक कुल 2,137 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी है और 2,277 लोगों की गिरफ्तारियां हुयी हैं। 75,457 वाहन जब्त किये गये हैं। अब तक इससे कुल 17 करोड़ 62 लाख रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। पिछले 24 घंटे में अवरोध पैदा करने के कारण 23 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी हैं और 18 लोगों की गिरफ्तारियां हुयी हैं। 1,004 वाहन जब्त किये गये हैं और 29 लाख 7 हजार रूपये जुर्माने के रूप में वसूल किये गये हैं। कोविड-19 से निपटने के लिये उठाये जा रहे कदमों और लॉकडाउन का पालन करने में अवरोध पैदा करने वालों के खिलाफ सख्ती से कदम उठाये जा रहे हैं।