ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज दशहरा व दिवाली विशेष
सावन मे नही निकाली जाऐगी कावड यात्रा, शासन का निर्देश - स्वाति शुक्ला
June 26, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
उपजिलाधिकारी और पुलिस उपाधीक्षक ने की प्रेस वार्ता
लखीमपुर/मोहम्मदी खीरी - जुलाई के पहले सप्ताह से शुरू हो रहे सावन माह मे कावड यात्रा को लेकर तहसील सभागार मे उपजिलाधिकारी स्वाति शुक्ला ने एक प्रेस वार्ता करके बताया कि जुलाई से शुरु हो रहे सावन माह में इस बार कोरोना बायरस को लेकर सरकार बेहद संवेदनशील है । इसी उद्देश्य के तहत इस बार कावड़ यात्रा नहीं निकालने का निर्णय लिया गया है । तथा जो श्रद्धालु मोहम्मदी से होते हुए शिव की नगरी गोला गोकर्णनाथ या बाबा टेडेनाथ , अमीर नगर जाते हैं वह अपने गांव या मोहल्ले में ही गंगाजल और बेलपत्र सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही चढ़ाएं और पूजा अर्चना करे । सामूहिक रूप से ट्रैक्टर ट्राली या अन्य वाहनो से जाने की अनुमति नही होगी । सरकार और शासन से मिले निर्देशो का आप सभी पालन जरूर करे , उन्होंने कहा कोरोना बायरस जैसी महामारी से पूरा देश परेशान है , जिसमे जनपद लखीमपुर भी अछूता नही है , सावन माह मे लाखो श्रद्धालु अनेकों जनपदों से शिव की नगरी गोला गोकरण नाथ आते थे परंतु कोरोना वायरस को लेकर इस बार यह कावड़ यात्रा स्थगित की गई है । वही भूतनाथ का लगने वाला मेला भी इस बार नहीं लगेगा तथा सावन के प्रत्येक सोमवार को गोला के शिव मंदिर के कपाट भी बंद रहेंगे । जिसमें सभी श्रद्धालुओं अनुयायियों का विशेष सहयोग इस महामारी से बचने के लिए चाहिए होगा । प्रेस वार्ता के माध्यम से उपजिलाधिकारी स्वाति शुक्ला ने मोहम्मदी तहसील के सभी श्रद्धालुओं से अपील की है कि इस बार सामूहिक रूप से कावड यात्रा न निकाले । वही पुलिस उपाधीक्षक प्रदीप कुमार यादव ने कहा कि यह समय बेहदसंबेदन शील है । अगर हजारो की संख्या मे श्रद्धालु कावड़ यात्रा लेकर जाते हैं तो निश्चित तौर पर यह बीमारी विकराल रूप धारण कर सकती है । मोहम्मदी कोतवाली प्रभारी ने बताया कोरोना को ध्यान में रखते हुए शासन और प्रशासन ने इस बार कावड़ यात्रा न निकालने का निर्णय लिया गया है । मदिर के समीप कोई मेला नही लगेगा । सर्किल में पालनहार बाबा श्री जंगली नाथ मंदिर और बाबा श्री टेढ़े नाथ मंदिर व बाबा श्री पालन नाथ मंदिर सोमवार के कपाट बद रहेगे । साथ ही सयुंक्त रूप से बताया आप सभी मीडिया बंधुओ के माध्यम से अनुरोध है कि शासन और प्रशासन के निर्णय को मानते हुए इस बार कावड़ यात्रा सामूहिक रूप से न  निकाले ।