ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
राजधानी लखनऊ के काकोरी थाना अंतर्गत पुलिस की मिलीभगत से रायल्टी के नाम पर धड़ल्ले से चल रहा अवैध खनन 
May 25, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
पुष्पेंद्र सिंह सवांददाता दैनिक अयोध्या टाइम्स लखनऊ। बताते चलें कि राजधानी लखनऊ के काकोरी थाने के कलिया खेड़ा में पिछले कुछ दिनों से रात में अवैध खनन चल रहा था । जिसकी शिकायत आला अधिकारियों से होने के बाद रात में खनन बंद कर दिया गया था । लेकिन कलिया खेड़े में अब दिन में हो रहा अवैध खनन रॉयल्टी के नाम पर क्षेत्र में घूम घूम कर बेची   जा रही मिट्टी काकोरी थाना के पंडित खेड़ा व पारा थाना क्षेत्र  के काशीराम कॉलोनी , सदरौना में घूम घूम कर डाली जा रही मिट्टी रायलटी के नाम पर खूब हो रहा अवैध खनन ’क्या कहते है जिम्मेदार’ एसडीएम  साहब  कई बार मिलाने पर भी मोबाइल बिजी। तहसीलदार सरोजनीनगर ने स्पष्ट किया कि रात में खनन अवैध होता है जब्कि रात्रि खनन की कई बार शिकायत काकोरी पुलिस से की गयी पर कार्यवाही के नाम पर कुछ नहीं तहसीलदार साहब ने चेक कराने का दिया आश्वासन डीएम ,साहब जांच कराते है खबर है तो प्रश्न तो उठेगा ही 1. लखनऊ पुलिस हाईटेक पुलिस लेकिन इतना तो हर नागरिक को पता है कि प्लाट , बेसमेंट ,या फिर क्षेत्र मे मिट्टी नहीं डाली जा सकती तो फिर पुलिस को कभी किसी प्लाट मे मिट्टी गिरती क्यों नहीं दिखाई देती । 2. आखिर डम्फर आउटर ना जाकर गांव मे आते कैसे है पुलिस की नजर से बच कैसे जाते हैं । 3. आउटर रिंग रोड पर जाने के लिए मऊंदा अमौसी रोड पर डम्फर को जाना चाहिए जब्कि डम्फर पूरा दिन काकोरी थाना क्षेत्र मे पंडित खेड़ा पारा थाना क्षेत्र के सदरौना काशीराम कालोनी के प्लाटों मे कैसे घूमते रहते है अखिर ये डम्फर पुलिस की नजर मे आते कैसे नहीं है। कई डम्फरों मे तो नं प्लेट भी नही होती आखिर ये चल कैसे रहे है । ’क्या काकोरी और पारा पुलिस को ये डम्फर दिखते नहीं या फिर जानबूझकर आखे बंद है पुलिस की’ 
अब देखना ये है कि खुलेआम डम्फर क्षेत्र मे मिट्टी बेचते हुए अब भी पुलिस को नजर आते है या फिर हमारी हाईटेक पुलिस आंखो मे पट्टी और कानों मे तेल डालकर बैठी रहती हैं और खनन माफिया ऐसे ही क्षेत्र मे मिट्टी बेचते रहेंगे।