ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
पुलिस वर्दी के नशे में है चूर पीड़िता मजबूर
June 7, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
थाना बना दलालो का अड्डा
दैनिक अयोध्या टाइम्स/महफूज अहमद
शुकुल बाजार अमेठी इन दिनों स्थानीय थाने की पुलिस पीड़ित पर ही बनाती है दबाव जहां केंद्र और राज्य सरकार भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेंकने की बात करता है  वहीं उन्हीं की पुलिस स्थानीय थाने पर जिन लोगों पर गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत हो उन्हीं लोगों से मिलकर क्षेत्र की भोली-भाली जनता को धन उगाही का जरिया बना रही है इसका जीता जागता सबूत नाबालिग से शादी का झांसा देकर  करता रहा उसके साथ यौन शोषण जब शादी का समय आया तो उसने शादी से मना कर दी लड़की के परिजन स्थानीय पुलिस को पूरे मामले की तहरीर दे कर दी जानकारी ,वही स्थानीय हल्का दरोगा वा हल्का सिपाही के माध्यम से 2 दिन तक पीड़िता का f.i.r. नहीं दर्ज हो सका जब मीडिया के संज्ञान में आया तब मीडिया ने ट्विटर के माध्यम से उच्चाधिकारियों को अवगत कराया , सूत्रों की माने तो दरोगा जी को चढ़ा वर्दी का नक्शा पीड़िता को धमका कर कहा जाओ जो कुछ करना है कर लो नहीं दर्ज होगी एफआइआर  ना होगी शादी वर्दी के नशे में चूर पीड़िता मजबूर लगा रही है थाने से लेकर जिले तक का चक्कर नहीं मिल रहा है इंसाफ ।
 
वहीँ मीडिया ने ट्विटर के माध्यम से उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दी है 
 
स्थानीय
थाने की माने तो आधा दर्जन से अधिक छेड़छाड़ के मामले को स्थानीय थाना प्रभारी के दबाव में व दलालों के जरिए सब को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया । बताते चलें कि थाना प्रभारी पर संबंधित स्टाफ कर्मी भी कई बार गंभीर आरोप लगा चुके हैं लेकिन नहीं हुई कार्यवाही प्रभारी महोदय के उच्चाधिकारियों से अच्छी खासी पहुंच होने के नाते उच्चाधिकारियों को भी कार्यवाही करने में संयम बरतना पड़ता है अंडर ट्रांसफर थाना प्रभारी काट रहे हैं माल जनता हो रही हलाल।