ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज दशहरा व दिवाली विशेष
प्रतापगढ़ में नर्सिंग होम की घटना पर बिफरी एबीवीपी
May 20, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
प्रतापगढ़
एबीवीपी ने जिलाधिकारी को दिए गए शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि दिनांक 16 मई को शहर में स्थित नर्सिंग होम में एक अमानवीय कृत्य हुआ जो कि प्रतापगढ़ जिले के लिए बेहद ही शर्मनाक बात है कि शहर के एक अस्पताल द्वारा जो की एक महिला को अस्पताल से बाहर निकाल दिया जाता है जिसकी कुछ समय में डिलीवरी होनी थी उस महिला को अपमानित करते हुए यह कहकर बाहर निकाल दिया जाता है की जब पैसे नहीं थे तो अस्पताल में क्यों चले आए जब पैसे होंगे तब आना इस कोरोना महामारी के समय उस महिला को अस्पताल के बाहर कर दिया जाता है वह महिला कई घंटों तक उस अस्पताल के सामने रोती रही चिल्लाती रही लेकिन कोई भी डॉक्टर बाहर नहीं आए जिससे उस महिला के बच्चे की मौत हो गई वह कई बार मिन्नतें करती रही लेकिन कुछ पैसे की लालच में डॉक्टर द्वारा किया गया यह कृत्य अमानवीय है विद्यार्थी परिषद इसकी कड़ी निंदा किया और और जिलाधिकारी महोदय से यह निवेदन किया कि इस मामले को संज्ञान में लेते हुए ध्यान दिया जाए l विद्यार्थी परिषद का कहना है कि  पूर्व में भी इस अस्पताल का काला इतिहास रहा है इस अस्पताल में पूर्व में भी ऐसी घटनाएं हुई है जिसके चलते कई बार लोगों को अपनी जान गवानी  पड़ी है विद्यार्थी परिषद इसका कड़ा विरोध करता है की एक ही अस्पताल द्वारा इस तरह की लापरवाही भरी घटना को का दोहराया जाना बहुत ही गलत है विद्यार्थी परिषद ने अपील किया है कि अस्पताल का लाइसेंस निरस्त किया जाए एवं दोषी पाए जाने वाले डॉक्टरों पर जिनमें लोग ईश्वर का रूप देखते हैं उनके द्वारा कुछ पैसों के चलते इस तरह का अमानवीय कृत्य करना बेहद ही शर्मनाक है जिसके चलते लोगों का डॉक्टरों से विश्वास उठ रहा है इस भयंकर महामारी के समय एक तरफ डॉक्टरों द्वारा निस्वार्थ सेवा की जा रही है वहीं दूसरी तरफ इस अस्पताल के कर्मचारी एवं अस्पताल के डॉक्टर द्वारा महिला को अस्पताल से बाहर निकालते इलाज ना करना ईश्वर के स्वरूप को अपमानित करता है इस घटना में की जा रही जांच और FIR में नर्सिंग होम संचालक के खिलाफ नामजद मुकदमा भी नहीं दर्ज किया गया है अतः यह  यह न्याय संगत नहीं है अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद प्रतापगढ़ इकाई डॉक्टर  के खिलाफ नामजद f.i.r. और उनको त्वरित गिरफ्तार करने की मांग की तथा नर्सिंग होम का लाइसेंस रद्द करने तथा अस्पताल को तुरंत बंद करने की मांग प्रशासन से माँग की है l