ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
परिवार फंसा लाकडाऊन में फिर भी नायब तहसीलदार मलिहाबाद शैलेन्द्र कुमार निभा रहे अपना दायित्व
May 19, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
*प्रदुम दीक्षित जिला संवाददाता लखनऊ दैनिक अयोध्या टाइम्स*
*मलिहाबाद लखनऊ*।लॉक डाउन के बाद से प्रशासनिक अधिकारियों के सामने भी कई प्रकार की बड़ी चुनौतियां सामने खड़ी हो गई है लेकिन इसका वे कोरोना वारियर्स के रूप में डटकर सामना मुकाबला कर रहे हैं। इनमें शामिल मलिहाबाद नायब तहसीलदार शैलेन्द्र कुमार सिंह दिन-रात एक कर अपना कर्तव्य बहुत ही निष्ठापूर्वक से निभा रहे हैं।खास बात उनका परिवार मुम्बई में लॉक डाउन के कारण घर नही आ पा रहा जिसकी चिंता छोड़ वह अपनी जिम्मेदारी बख़ूबी निभा रहे है।
बताते चलें कि कोरोनावायरस  वैश्विक  महामारी  के बीच  पूरा विश्व  जूझ रहा है  ऐसे में  जनपद लखनऊ के मलिहाबाद तहसील में तैनात नायब तहसीलदार शैलेन्द्र कुमार सिंह का परिवार भी मुंबई में लाकडाऊन  फंसा हुआ है  जबकि  भारत में  सबसे ज्यादा मुंबई में कोरोना से संक्रमित लोग पाए जा रहे हैं  फिर भी अपने परिवार की चिंता किए बगैर नायब तहसीलदार अपने क्षेत्र में बखूबी अपने दायित्व को निर्वाह कर रहे हैं  लखनऊ जनपद जैसे रेड जोन जिला होने के कारण प्रशासन के समक्ष कई चुनौतियां सामने आई है। उनका समाधान निकालने में नायक नायब तहसीलदार मलिहाबाद हर मोर्चे पर तैनात खड़े दिख रहे।वह कम्युनिटी किचन की प्रभारी की भी जिम्मेदारी बखूबी से निभा रहे हैं ताकि क्षेत्र में कोई भूखा ना सोए और भूखा न रहने पाये अन्य शहरों से आने वाले मजदूरों के लिए भोजन और रूकने की व्यवस्था की जिम्मेदारी और दूसरे जिलों से लौटकर आने वाले व्यक्तियों को भोजन मुहैया कराना वही मलिहाबाद कम्युनिटी किचेन में बन रहे खाने की अच्छी गुणवत्ता के भी चर्चे क्षेत्र में हो रहे हैं साथ ही तहसीलदार निखिल शुक्ल और उपजिलाधिकारी विकास कुमार सिंह के साथ मिलकर लॉकडाउन में आवश्यक दुकानों को खुलवाने एवं बंद कराने की व कोटेदारों द्वारा राशन वितरण की सुचारू रूप से व्यवस्था कराना और कोराटाइन में रह रहे लोगों की जिम्मेदारी भी बखूबी निभा रहे हैं 
नायब तहसीलदार शैलेन्द्र कुमार सिंह मलिहाबाद का परिवार पत्नी दो वर्ष की बच्ची मुंबई में लाकडाउन में फंसे हुए है। उन्होंने बताया कि देश में लाकडाऊन लगने के पहले पत्नी अपने भाई यहां एक समारोह में बच्ची के साथ शामिल होने को मुंबई साथ लेकर गयी थी तब से वही पर लाकडाऊन में है अब सप्ताह में एक दो बार फोन से बात कर पाते हैं क्योंकि इतनी व्यस्तता और जिम्मेदारी भी है जबकि देश के अंदर मुंबई में सबसे अधिक कोरोना वायरस का संक्रमण फैला हुआ है यह चिंता उन्हें बहुत ही सता रही है फिर भी वह अपने कर्तव्य के आगे परिवारजनों दूर रहकर भी अपनी जिम्मेदारी पूरी शिददत से निभा रहे हैं वह बहुत ही सरल स्वभाव के व्यक्ति हैं जनसेवा और अपनी जिम्मेदारी के प्रति पूर्ण रूप से वह हमेशा समर्पित रहते हैं