ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज दशहरा व दिवाली विशेष
ऑन लाइन कवि गोष्ठी मे कवियों ने सामजिक परिवेश पर पढ़ी रचनाएं 
May 27, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
दैनिक अयोध्या टाइम्स प्रतापगढ़ ।
 रवि आभा युग निर्माण समाज एवं एजुकेशनल एण्ड सोशल वेलफेयर ट्रस्ट के अंग"अंतर्राष्ट्रीय मानवतावादी लेखक संगठन (अमालेस) का ऑन लाइन मासिक काव्य गोष्ठी का कार्यक्रम बहुत सुन्दर व शानदार रहा जिसमें देश के बहुत से नाम चीन साहित्यकारों ने काव्यपाठ किया ।अमालेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा पुष्प लता लक्ष्मी द्वारा वाणी वंदना से कार्यक्रम का आगाज हुआ । इसके पश्चात दुर्गेश वर्मा 'दुर्गेश' ने "दूर गये हो जबसे तुम" ।भावना भारद्वाज ने "प्रश्न कबूतर के , परिणीता कौशिक ने "दहेज की बलि, महेश ' माही' का "सौन्दर्य । वाणी प्रिया ने "वाणी ,महेश उनियाल ने "गंगा ,पुष्प लता लक्ष्मी ने "मरुभूमि ,अनुरूपा 'अनुश्री' ने "भ्रुणहत्या , प्रज्ञा मिश्रा ने "मुझ पर गुजरी, तमन्ना चौहान ने आंसू , सीमा सान्डिल्य ने "अकेलापन , पत्रकार व साहित्यकार अनूप त्रिपाठी ने "मंदिर मस्जिद , मधु शर्मा ने "गुरू देव को समर्पण , धीरेंद्र चौहान ने "बूढे़ की जवानी, इला अग्रवाल ने "चाय, मंजीत रावत ने "बेटियां , नेहा चौहान ने "जीवन की राहें आदि कवियों ने अपने रचनाओं के माध्यम से ऑनलाइन गोष्ठी में चार चाँद लगा दिया। अमालेस के संस्थापक प्रवीण तिवारी"रविआभा"ने अपनी कविता"नशा करता हूँ सबमें ईश्वर भरने का सुना कर एक सकारात्मक सन्देश देने के साथ ही सभी कवियों को बधाई व शुभकामनाएं अर्पित करते हुए आभार व्यक्त किया।रविआभा युगनिर्माण समाज की संस्थापिका रेखा तिवारी एवं अध्यक्षता  हरिश्चंद्र त्रिपाठी ने किया । कवि गोष्ठी के मुख्य अतिथि के रुप मे योगेश त्रिपाठी एवं संरक्षक धर्मप्रकाश पाण्डेय ने सभी साहित्यकारों को बधाई व शुभकामनाएँ देने के साथ ही आगे भी लोकमंगल कारी कार्यों में सहयोग देने का अावह्नन करने के साथ ही उज्ज्वल भविष्य के लिए कामना किया । गोष्ठी का संचालन पुष्प लता लक्ष्मी व आभार संजोयक प्रवीण तिवारी ने जताया।