ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
मानव स्वास्थ्य व दूध की भूमिका विचार गोष्ठी 
June 2, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • बिहार

 विश्व दूध दिवस पर अधिक दूध उत्पाद व पशु स्वास्थ्य शिविर का हुआ आयोजन

सदर हाजीपुर।
 कृषि विज्ञान केंद्र हरिहरपुर के विशेषज्ञों ने  विश्व दुध दिवस पर  किसानो को समस्या एवं अधिक दूर उत्पादन व  मानव स्वास्थ्य और दूध की भूमिका पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया । सदर प्रखंड स्थित हरिहरपुर गाँव मे शिविर का आयोजन किया गया। गोष्टी को संबोधित करते हुए कृषि विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. नरेंद्र कुमार ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा  दूध शरीर के लिए सही पोषक तत्व का एक बहुत अच्छा स्रोत है। जिससे कैलशियम, मैग्निशियम, जिंक, फॉस्फोरस, पोटैशियम, क्लोरेट, विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन 12, प्रोटीन दूध में प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होता है। इसीलिए दूध को अमृत कहा गया है। इसमें ऊर्जा युक्त आहार होता है जो शरीर को तुरंत ऊर्जा उपलब्ध कराता है। इसमें प्रोटीन सहित आवश्यक और गैर आवश्यक अमीनो एसिड एवं फैटी एसिड उपलब्ध होता है। मानव स्वास्थ्य के लिए दूध अमृत के समान है।

 शिविर में 10 पशु का हुआ स्वास्थ्य जांच

विश्व दूध दिवस पर स्थानीय हरिहरपुर में पशु स्वास्थ्य शिविर में दस पशुओं का स्वास्थ्य जांच कर निःशुल्क टीकाकरण व दवा वितरण किया गया। कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों ने किसानों के घर पहुंच कर पशुओं की देखभाल एवं अधिक दूध उत्पादन के विषय मे विस्तार से जानकारी दिए। केंद्र के प्रेम प्रकाश गौतम, स्वप्निल भारती, संजीव कुमार,  केंद्र के लैब टेक्नीशियन दीपक कुमार  ने 10 जानवरों की स्वास्थ जांच किया। वही किसानों को अधिक दूध के लिए पशु आहार के रूप में अजोला खिलाने के लिए एवं अस्वस्थ दूध उत्पादन से मानव शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव के विषय में विस्तार से जानकारी दी। 

- शिविर में इनकी रही उपस्थिति
 पशुपालन सुंदर पासवान, धर्म पासवान, दीपक कुमार, मोहन कुमार, सुधीर कुमार समेत अन्य ग्रामीण मौजूद थे।