ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज दशहरा व दिवाली विशेष
मानव कल्याण के लिए प्रभु भक्ति हरि कथा सबसे सरल और सुगम साधन डॉ दयानंद ध्रुव वेदांताचार्य।
May 24, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
पत्रकार:-प्रशान्त यादव करहल आचार्य रवीनाथ महाराज ने जानकारी देते हुए कहा डॉ दयानंद बने अपने ध्रुव टीवी मंजेश शास्त्री चैनल गोगाजी टीवी चैनल पर अपने साक्षात्कार में कहा कि प्रभु की शरण में रहने वाला व्यक्ति जीवन में कभी दुखी। हो दरी दरी नहीं हो सकता हर कार्य जीवन का सबसे कठिन है। लेकिन श्रीमद् भागवत कथा को श्रवण करना प्रभु कृष्ण की भक्ति सबसे सरल सुगम साधन है। वही सुपरस्टार मंजेश शास्त्री जी ने अपने मुखारविंद उसे दर्शाया कि भगवान के चरणों में जो समर्पण हैं। निश्चित यह है इस कलयुग के कराल कलिकाल में प्रभु की शरण में जाने के बाद मनुष्य मोक्ष की प्राप्ति होती है। प्रभु शरण ही मानव का कल्याण कर सकता है। इस लॉकडाउन के अवसर पर मंजेश शास्त्री ने सभी भक्तजनों को सनातन धर्म के प्रेमियों को घर में रहकर लोग लॉकडाउन का पालन कर अपने ही घर में भगवान का भजन कर धर्म क्षेत्र में अपने कार्य करे राष्ट्रीय से गोरख जाहरवीर कथा प्रवक्ता आचार्य रवीनाथ जी महाराज ने कहा मनुष्य का जीवन हर पल कुछ न कुछ हमें सिखाता है ।वक्त और समय के साथ यदि लॉक डाउन के अवसर पर समय मिला है। तो हम अपने घर में बैठकर भगवान की भक्ति करें प्रभु के चरणों में अपने आप को समर्पण रहे और जितना हो सके आध्यात्मिक पुस्तकों का अध्ययन कर पौराणिक अध्ययन कर भगवान की लीलाओं को अपने घर के बच्चों को प्रभु राम, प्रभु कृष्ण जाहरवीर महाराज शिव गोरखनाथ महाराज की लीलाओं को श्रवण कराएं जिससे हमारे बच्चों में भी अच्छे संस्कार आ सके ओम आदेश जय श्री गोगा जी।