ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज दशहरा व दिवाली विशेष
लॉकडाउन के दौरान कोविड-19 से बचाव हेतु जिला प्रशासन द्वारा किए गए महत्वपूर्ण कार्य
June 8, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
अमेठी विजय कुमार सिंह
अमेठी 8 जून 2020, कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम हेतु अब तक जिला प्रशासन द्वारा जन सामान्य की सुविधा हेतु कई महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। जनपद में लाकडाउन के दौरान असहाय व गरीब परिवारों के भरण पोषण हेतु जन सहयोग से सरकारी/कम्युनिटी किचन द्वारा कुल 77134 लंच पैकेट, व्यक्तिगत/जनसहयोग से 146311 लंच पैकेट तथा 26347 खाद्यान्न पैकेट वितरित किए गए हैं इसके साथ ही घुमंतू, खोमचा, पटरी पर निवास करने वाले कुल 7402 चिन्हित श्रमिकों में से 7384 श्रमिकों को प्रति श्रमिक रू0 1000 की सहायता राशि उपलब्ध कराई जा चुकी है, 78413 वृद्धावस्था पेंशन, 26011 निराश्रित महिला पेंशन, 10709 दिव्यांग पेंशन के लाभार्थियों के खाते में धनराशि का भुगतान किया जा चुका है, श्रम विभाग में पंजीकृत कुल 5352 श्रमिकों में से 4742 श्रमिकों को डी0बी0टी0 के माध्यम से रूपए 1000 की सहायता उपलब्ध कराई जा चुकी है, मनरेगा योजना के अंतर्गत 54696 लाभार्थियों को रू0 1365.95 लाख की धनराशि का भुगतान किया जा चुका है, जनपद में घुमंतु, खोमचा, पटरी पर निवास करने वाले तथा अभी तक अन्य किसी भी योजना में अनाच्छादित कुल 7279 लाभार्थियों को राशन कार्ड जारी कर निशुल्क खाद्यान्न वितरित किया गया है। लॉकडाउन के दौरान बाहर से आए 46909 व्यक्तियों की सुविधा हेतु 470 अस्थाई कैंप/आश्रय स्थल संचालित किए गए हैं तथा इन सभी का डाटा फीड करते हुए स्किल मैपिंग तथा राशन किट वितरण का कार्य जारी है, बाहर से आए प्रवासी श्रमिकों में से 11276 परिवारों के 15309 व्यक्तियों को 15 दिन की राशन किट का वितरण किया गया है शेष को वितरण कार्य लगातार जारी है। जनपद में लॉकडाउन के दौरान 22 श्रमिक स्पेशल ट्रेन से कुल 24173 व्यक्ति अमेठी रेलवे स्टेशन पर पहुंचे जहां पर उनकी मेडिकल स्क्रीनिंग कराते हुए मास्क, सैनिटाइजर एवं भोजन का पैकेट वितरित करते हुए उनके गंतव्य स्थान तक बसों द्वारा भेजने की कार्यवाही की गई है। साथ ही 42 विभिन्न जनपदों के कुल 15851 व्यक्तियों को बसों के माध्यम से सुरक्षाकर्मी सहित उनके गृह जनपद में भेजा गया है। लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री जनधन योजना अंतर्गत कुल खाते 741206 के सापेक्ष महिला खाताधारक  370000 के खातों में गत 3 माह में रुपए 55.5 करोड़ राहत राशि प्रेषित की जा चुकी है, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना अंतर्गत कुल  210548 किसानों को माह अप्रैल में धनराशि रुपए 42.11 करोड़ का भुगतान किया गया है, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अंतर्गत 15 से 25 मई 2020 के मध्य कुल 349050 राशन कार्डो में के सापेक्ष 330058 राशन कार्डों को निशुल्क 5 किग्रा चावल प्रति व्यक्ति एवं 1 किग्रा चना प्रति कार्ड वितरित किया गया है जो कुल खाद्यान्न वितरण का 94.55% है साथ ही घुमंतू, खोमचा, पटरी पर निवास करने वाले 7283 व्यक्तियों के भरण पोषण हेतु रा0खा0सु0 अधिनियम के तहत अच्छादित करते हुए उनका राशन कार्ड जारी कर माह मई में 7261 लाभार्थियों को निशुल्क चावल/चना वितरित किया गया है। लाकडाउन के दौरान पोस्ट ऑफिस के द्वारा कुल 257 कार्मिकों के माध्यम से माइक्रो एटीएम के तहत 29603 ट्रांजेक्शन के द्वारा रुपए 05.17 करोड़ तथा बैंक मित्र/कॉमन सर्विस सेंटर के द्वारा कुल 641 कार्मिकों के माध्यम से बैंक मित्र/माइक्रो एटीएम के तहत 564683 ट्रांजेक्शन के द्वारा रूपए 102.38 करोड़ वितरित किया गया है। लाकडाउन के दौरान जनपद के सभी विकास खंडों में आंगनवाड़ी कार्यकत्री एवं सहायिकाओं के द्वारा गर्भवती एवं धात्री महिलाओं तथा 7 माह से 6 वर्ष के बच्चों एवं स्कूल न जाने वाली 11 से 14 वर्ष की किशोरी बालिकाओं को अनुपूरक पोषाहार घर-घर जाकर वितरित किया जा रहा है तथा 18778 गर्भवती महिलाओं की देखरेख स्वास्थ्य परीक्षण व पोषाहार फल इत्यादि की व्यवस्था भी सुनिश्चित की गई है। खादी का मास्क बनाने एवं मास्क का वितरण आमजन तक पहुंचाने हेतु स्वयं सहायता समूहों को प्रोत्साहित किया गया है जनपद में 47 स्वयं सहायता समूहों के द्वारा अब तक 12000 खादी का मास्क तैयार किया गया है जिसमें से 11000 मास्क विभिन्न विभाग/व्यक्तियों को वितरित किए गए हैं। जनपद में आपातकालीन व्यवस्था है तो कुल 3320 व्यक्तिगत पास व 2404 वाहन पास निर्गत किए गए हैं। इसके साथ ही जनपद में लाकडाउन का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध 188 IPC व 3/7 EC Act व अन्य IPC के तहत 252 व्यक्तियों पर FIR, 861 व्यक्तियों को गिरफ्तार व 199 वाहन सीज किए गए हैं, सरकारी राशन वितरण में गड़बड़ी करने वाले व्यक्तियों को कड़ा संदेश देते हुए EC Act 1955 की धारा 3/7 एवं IPC की धारा 188 के अंतर्गत अब तक 07 कोटेदारों के खिलाफ जांचोपरांत FIR एवं 12 दुकानों का निलंबन किया गया है, होम क्वॉरेंटाइन का उल्लंघन करने पर 200 व्यक्तियों को इंस्टीट्यूशनल क्वॉरेंटाइन में शिफ्ट किया गया है 257 व्यक्तियों को 188 IPC का नोटिस जारी तथा 239 को नामजद करते हुए 38 FIR दर्ज कराई जा चुकी हैं। लाकडाउन के दौरान आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त कुल 4410 समस्याओं का संबंधित अधिकारियों द्वारा जांचोपरांत संतोषजनक निस्तारण किया गया है। इसके साथ ही अब भी जिला प्रशासन द्वारा शासन से प्राप्त निर्देशों के क्रम में कोविड-19 से बचाव हेतु विभिन्न कदम उठाए जा रहे हैं।