ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
केकेएससी द्वारा रक्तदान शिविर एवं गरीब महिलाओं के बीच वस्त्र वितरण किया गया
June 15, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • अन्य खबरें

जामुड़िया : कोयला खदान श्रमिक कांग्रेस द्वारा जामुड़िया के आरएन कालोनी में रक्तदान शिविर एवं गरीब महिलाओं के बीच वस्त्र वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया। समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में पांडेश्वर के विधायक सह तृणमूल कांग्रेस जिलाध्यक्ष जितेन्द्र तिवारी उपस्थित हुए। उन्होंने रक्तदान शिविर का उद्घाटन किया तथा महिलाओं को साड़ी भी प्रदान की। इस मौके पर तृणमूल कांग्रेस जिलाध्यक्ष सह पांडेश्वर विधायक जितेन्द्र तिवारी ने कहा कि 2015 में दीदी ने मुझे मेयर बनाया था, 2016 में मुझे पांडेश्वर में विधानसभा चुनाव लड़ने भेजा गया था, उस जगह जहां का मैं रास्ता भी नहीं जनता था, उस समय तन-मन-धन से सहयोग कर मुझे विधायक बनाने में दो लोगों ने महत्वपूर्ण निभायी थी, मेरे बड़े भाई हरेराम सिंह एवं नरेन्द्रनाथ चक्रवर्ती ने और मुख्यमंत्री का आशीर्वाद था, लेकिन एक अच्छा टीम लेकर हमलोग को चुनाव लड़ने का मौका मिला था, हर कोलियरी में गेट मीटिंग होती थी, उन्होंने कहा कि कोयला खदान श्रमिक कांग्रेस अपनी सदस्य संख्या के साथ महत्वपूर्ण स्थान में है, हमें हरेराम सिंह के नेतृत्व में बड़ी लड़ाई लड़नी है, क्योंकि जिनका कुछ भी नहीं है,उन्हें कोल इंडिया के कारपोरेट लेवल की बैठक बैठने दिया जाता है, बंगाल में सबसे ज्यादा सदस्य होने के बाद भी साजिश के तहत कारपोरेट लेवल पर हमलोगों की यूनियन को प्रतिनिधित्व नहीं दिया जाता है, आनेवाले दिनों में केन्द्र सरकार ने ऐसे सिद्धांत लिये है जिससे कोलियरी में श्रमिकों का अस्तित्व ही समाप्त हो जायेगा, कोल इंडिया का अस्तित्व समाप्त हो जायगा, कोल इंडिया का कोयला खरीदने वाला कोई नहीं मिलेगा, प्राइवेट कंपनी को खदान देने के बाद इलाके में सामाजिक काम और हादसे में मुआवजा भी नहीं मिलेगा, निजी कंपनी अवैज्ञानिक रूप से काम कर ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमायेगी, लागत कम होने पर सस्ता कोयला बेचेंगे, कोल इंडिया का मुनाफा कम हो जायेगा। मंगलवार को इसीएल मुख्यालय में आइएनटीटीयूसी सभानेत्री दोला सेन के नेतृत्व में आन्दोलन होगा, इस बड़ी लड़ाई में जिलाध्यक्ष के रूप में आश्वस्त करता हूं कि पूरी पार्टी हरेराम सिंह के साथ है, यह मजदूरों के हक की लड़ाई है, यूनियन मजदूरों के हक की लड़ाई लड़ने के साथ ही सामाजिक दायित्व का भी पालन कर रहा है। बहुत सारे इलाको में गरीबों को राशन पहुंचाया गया, मुख्यमंत्री के आह्वान पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।