ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
ग्राम प्रधान है अलग मस्त प्रवासी मजदूर हो रहे है अस्त ब्यस्त
May 18, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश बाराबंकी के तहसील हैदरगढ़ क्षेत्र ग्रामसभा मेनहुवा पलौली के ग्राम प्रधान सियाराम यादव पर ग्राम सभा मे आये प्रवासी मजदूरों के परिजनों ने आरोप लगाए है केसरिया हिन्दू वाहिनी महिला प्रकोष्ठ की पप्रदेश महासचिव कल्पना सिंह ने सभी प्रवासी मजदूरों को भोजन की ब्यवस्था में लग गई है वही प्राप्त जानकारी के अनुसार मेनहुवा ग्राम में मिनी सचिवालय में कुछ प्रवासी मजदूर जो अन्य जगहों से आये है ओ लोग गाँव मे बने सचिवालय में और गाँव के ही विद्यालय में क्वारंटाइन है जो कि पाँच दिन पहले अलग अलग जगहों से आये है  यही नही संतोष कुमार पुत्र रामकरन ने ग्राम प्रधान पर आरोप लगाते हुए बताया कि मय कल जयपुर से आया हूँ मुझे गाँव में बने मिनी सचिवालय में रहने के लिए बोला गया था लेकिन हमें वहाँ गन्दगी बहोत लगी कोई साफ सफाई की उचित ब्यवस्था नही थी जिससे हम मजबूर होकर अपने खेत मे रहने के लिए मजबूर हुआ हूँ नीरज पुत्र राजेन्द्र प्रसाद मेनहुवा जो  मुम्बई से 11 तारीख को अपने वतन आये है 
गया प्रसाद पुत्र रामबरन 
सुमित शर्मा पुत्र शिवकुमार जो कन्नौज से 12 तारीख को अपने वतन आये है इन सभी के परिजनों का आरोप है कि ग्राम प्रधान के द्वारा आज तक एक भी दिन एक भी बार किसी भी तरह की खाने या रहने कोई ब्यवस्था नही दी गई है जब लोगो ने प्रवासियों के भूखे होने की खबर सुनी तो आप पास के कुछ सज्जन ब्यक्ति अपने घरों से इन सभी को खाना खिलाया एक तरफ सरकार इस महामारी से निपटने के लिए मजदूरों के स्वास्थ्य की चिंता करते हुए सभी को अपने घरों के लिए लेन दिन रात मेहनत कर रही है तो वही कुछ ग्राम प्रधान सरकार के आदेशों की धज्जियां भी उड़ा रहे है जानकारी के मुताबिक ग्राम प्रधान पर यह भी आरोप लगाया गया कि अगर कोई ग्राम प्रधान सिया राम से मदद की आस लगता है गुहार लगता है तो भी प्रधान के कानों में जूं तक नही रेंगता आखिर ऐसे ग्राम प्रधान पर उच्चधिकारियो के द्वारा क्या उचित कार्यवाही की जाएगी या सिर्फ मजदूरों की आवाज उठाने पर भी यह शिकायत सिर कागजो में सिमट जाएगी।।