ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
एसडीएम साहेब के आदेशों की नगर पंचायत और ठेकेदार द्वारा ग्राम उम्मेदखेड़ा में उड़ाई जा रही धज्जियाँ
June 28, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
बंथरा / लखनऊ :- थाना सरोजनी नगर बंथरा के उमेद खेड़ा गांव में मार्ग को लेकर हाहाकार इस विकास शील देश मे कुछ देश के ही लोग ऐसे है जो अपनी भलाई के लिए इस विकास में रोड़ा बनकर सामने खड़े हो जाते है।ये जो तस्वीरों में आपको खड़ंजा और पानी भरा गड्ढा दिखाई दे रहा है ये उस गांव को शहर से जोड़ता है जहां तक़रीबन 300 परिवार रहते हैं उस गांव का नाम है उमेद खेड़ा जो बंथरा में है।यहां तक़रीबन 350 मीटर लम्बी सड़क पर आधा तो खड़ंजा है और लगभग 50 मीटर सड़क विवाद में फस कर रह गई है जिसकारण ग्रामीणों का कहीं आना जाना दूभर हो गया है ये विवाद भी एसडीएम साहब ने अपने आदेश के बाद समाप्त करवा दिया था लेकिन फिर भी ना जाने क्यों वहां की जिला पंचायत और ठेकेदार वहां खड़ंजा बिछाने को तैयार ही नही हो रहे हैं। ग्रामीणों ने हमे बताया कि 50 मीटर की जिस जमीन पर गोबर पड़ा रहता है उस पर किसी शख्स ने दावा कर दिया कि ये ज़मीन उसकी है लेकिन पैमाइश होने के बाद एसड़ीएम साहब ने उसके दावे को गलत करार देते हुए मार्ग बनाये जाने का आदेश पारित कर दिया बावजूद इसके  फरवरी 2020 से ये रास्ता जस का तस ही पड़ा हुआ है जिस कारण वहां 40 वर्षों से रह रहे ग्रामीण मुख्य धारा में जुड़ने के लिए काफी परेशान है और इसी गंदी सड़क से वो अपने गंतव्य को आने जाने पर मजबूर हैं उन्होंने इस समस्या को सीएम के पोर्टल और डीएम साहब तक को भेजा है पर अभी तक कोई काम शुरू नही हो सका।उम्मीद है कि हमारे द्वारा खबर दिखाए जाने के बाद उमेद खेड़ा गांव की ये सड़क विवाद से हटेगी और जिसने भी इसपर विवाद किया है उसको सबक सिखाया जाएगा और यहां निर्माण कार्य पुनः शुरू हो पायेगा जिससे उमेद खेड़ा गांव भी अपने विकासशील होने पर गर्व करेगा और ग्रामीणों का आवागमन सुगम होगा।