ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
दुल्हन
May 29, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • कविता
दुल्हन बनना आसान कहां
 
नए सपने नई उम्मीद होती है
नए रिश्ते नया परिवार होता है
नई आशा नई पहचान होती है
नया पहनावा नई साज होता है
 
दुल्हन बनना आसान कहां
 
नई जिम्मेदारी नया संसार होता है
नया परिवेश नया आगाज़ होता है
नया मंदिर नया भगवान होता है
नए घूंघट में सिमटी नववधू होती है
 
दुल्हन बनना आसान कहां
 
नए दुल्हन का सौंदर्य नव मुस्कान होता है
नए विवाहित जीवन का शुरुवात होता है
नया ससुराल पुराना मायका होता है
नई लक्ष्मी अब ससुराल की दुल्हन होती है