ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
दबंगों ने महिला के साथ की मारपीट पीड़ित न्याय के लिए पहुंची थाने  पति को फर्जी केस में भेजा जेल  विवार थाना प्रभारी
June 10, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
मौदहा-हमीरपुर। न्यायालय में विचाराधीन विवादित खेत को जोतने से मना करने पर दबंगों ने महिला को मारपीट कर किया घायल तो पुलिस ने पीड़िता के पुत्र को ही चालान कर भेजा जेल वा न्यायालय के मामले में हस्तक्षेप करते हुए स्थानीय पुलिस जबरन डाल रही खेत के बंटवारे का दबाव पीड़ित ने उच्चाधिकारियों से लगाई न्याय की गुहार बताते चलें कि थाना बिवांर- के कस्बा निवासी कालकादीन वा साधु सिंह दोनों भाई हैं दोनों के बीच पूर्वजों की संपत्ति गाटा सं०176 खेत के बंटवारे को लेकर न्यायालय में मुकदमा विचाराधीन है। उक्त जमीन प्रार्थी के पिता लगभग 30 वर्षों से जोत बोल रहे हैं जिस पर 21-05-2020 को समय लगभग सुबह 8:30 बजे  विपक्षी अपने पुत्र सुघर सिंह,अजीत सिंह व पान सिंह यादव के साथ ट्रैक्टर लेकर जबरन विवादित खेत जोतने पहुंच गया। जहां पर प्रार्थी की मां पहले से मौजूद थी। प्रार्थी की मां ने दौरान मुकदमा खेत जोतने से मना किया जिससे खफा होकर उपरोक्त तीनों लोग प्रार्थी की मां को जान से मारने की धमकी देने लगे और पान सिंह ने उसकी मां के ऊपर अपना स्वराज ट्रैक्टर चढ़ाने का प्रयास किया तथा ट्रैक्टर खड़ा करके तीनों लोगों ने प्रार्थी की मां के बाल पकड़कर जमीन में गिरा दिया और लात घुसा से मारने लगे तब पीड़िता ने बचाओ के लिए जब शोर मचाना शुरू किया तो रास्ते से गुजर रहे राहगीरों व उसके भाई अशोक ने दूर से ललकारा तब कहीं दबंगों ने महिला को छोड़ा इतने में सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई पुलिस को आता देख सभी लोग उसकी मां को जान से मारने की धमकी देते हुए अपना कल्टीवेटर पड़ोसी के खेत में छोड़कर ट्रैक्टर लेकर वहां से भाग खड़े हुए।जब यह घटना प्रार्थी को पता चली तो वह है थाना बिवांर-में पहुंच लिखित शिकायत दे कार्यवाही की मांग की वहां थाना इंचार्ज ने उन्हीं को उल्टा सीधा बोलते हुए उल्टे दबंगों के दबाव में आकर शांति भंग की कार्यवाही करते हुए मौदहा एसडीएम कोर्ट में चालान कर दिया इस घटना से पीड़ित परिवार बहुत आहत है वही दबंगों के सह पर विवेचक सब इंस्पेक्टर अरविंद पाल पीड़ितों पर जबरन खेत के बंटवारे का दबाव डाल रहे हैं। जबकि इस खेत का मामला न्यायालय हमीरपुर में विचाराधीन है वही इस खेत के पड़ोसी काश्तकारों बुद्धू,ख्वाजा,बंटा उर्फ वंश गोपाल,घनश्याम यादव,बच्चा प्रजापति,राम खिलावन साहू,बद्री विश्वकर्मा आदि काश्तकारों का कहना है कि खेत नंबर गाटा संख्या 176 को हमारी याददाश्त में कई वर्षों से कालका दिन व उसके पुत्र ही जोत बो रहे हैं इसकी सिंचाई जुताई बुआई आदि का सारा खर्च कलका दीन का परिवार ही उठा रहा है व कब्जा इन्हीं का है जब पूर्वजों द्वारा आपसी पंचायत में उनके संपत्ति का बंटवारा हुआ था तब इस खेत की कीमत लगभग शून्य होने की वजह से अपनी चालाकी के चलते साधु सिंह आदि ने यह जमीन लेने से मना कर दिया था वा कीमती तथा उपजाऊ भूमि गाटा संख्या 1018 को लिया था तब पंचों की आपसी सहमति से उनके मनमाफिक बंटवारा किया गया था अब गाटा संख्या 176 की मालियत ज्यादा होने की वजह से इनके अंदर लालच आ गया और इन्होंने कालका दीन के परिवार को परेशान करते हुए जबरन बंटवारे का दबाव डाल रहे हैं जिसके चलते मामला न्यायालय तक पहुंच गया जो अभी भी न्यायालय में विचाराधीन है।