ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
बिन बुलाया मेहमान बना आस्तीन का सांप
May 18, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • लेख

यह कोरोना नाम का आस्तीन का सांप बिन बुलाया मेहमान देखते-देखते परिवार का एक अहम हिस्सा बन गया। डब्ल्यू एच ओ के एक रिपोर्ट के अनुसार इस बिन बुलाए मेहमान के साथ अब पूरी दुनिया को जबरन रहना होगा जब तक कि इसका कोई ठोस इलाज न मिल जाए यह हमारे परिवार का एक हिस्सा बनकर रहेगा। यह आस्तीन का सांप हमारे साथ में ही रहकर हमारी जीवनलीला पर विराम लगाता रहेगा।
ऐसे में हमें खुद की समझदारी और सतर्कता का परिचय देना होगा जिससे हमारे परिवार का हिस्सा बना यह आस्तीन का सांप हमारी जीवनलीला पर अपना कब्जा न बना सके और इस बिन बुलाए मेहमान की हर चाल को नाकाम किया जा सके। हमें हमारी बेलगाम जीवनशैली को पूर्णतया बदलना होगा और आस्तीन के सांप की नजरों से बचते-बचाते अपने हर कार्य को सुचारू रूप भी देना होगा ताकि हमारा अर्थतंत्र भी प्रभावित न हो और बिन बुलाए मेहमान को भी मात दिया जा सके।
डब्ल्यू एच ओ के मुताबिक यह बिन बुलाया मेहमान इतनी जल्दी हमारे बीच से जाने वाला नहीं है अतः हमें एकजुट होकर इस आस्तीन के सांप से लड़ने का हुनर सीखना होगा। यह हमारे साथ कदम से कदम मिलाकर चल रहा है यह मौके की तलाश में है हर पल घात लगाए बैठा है इसे इसके मंसूबे में कामयाब नहीं होने देना है इसके लिए हमें सतर्कता बरतनी होगी खुद के कार्यकलाप और दैनिक दिनचर्या को स्वस्थ्य, स्वच्छ व सुरक्षित बनाना होगा तभी हम इस आस्तीन के सांप को हरा सकते हैं।
जिस तरह देखते ही देखते इस आस्तीन के सांप ने लाखों जिन्दगियों को अपने चंगुल में फंसा लिया उससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह कितना खतरनाक है जबरदस्ती हमारे परिवार का हिस्सा बना यह बिन बुलाया मेहमान हमारी एक गलती के इंतजार में है अतः हमें यह मौका उसे बिल्कुल नहीं देना है हमारी एक गलती उसकी ताकत को दोगुना कर देती है फिर वह और भी खतरनाक बन जाता है। हमें उसके ताकत का यही चेन तोड़ना है इसके लिए हमारा संयम हमारी सतर्कता की अत्यन्त आवश्यकता है। आओ इस आस्तीन के सांप लगाम लगाए और इस बिन बुलाए मेहमान को उल्टे पाँव उसके घर रुखसत करें।