ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
भाई-बहन के अटूट बंधन का प्रतीक है रक्षा बंधन दो पहिया वाहन वालो को नहीं था आज चालान का डर हर्षोल्लास के साथ मनाया गया त्योहार
August 3, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश

ठा. अमित सिंह दैनिक अयोध्या टाइम्स क्राईम रिपोर्टर पीलीभीत

पीलीभीत में आज रक्षाबंधन के पर्व को लेकर बाजार गुलजार हो गया है। वही मिठाइयां की दुकानें भी सजी रही पवित्र धागों के इस त्योहार में बदलते समय के साथ-साथ कई तब्दीलियां देखने को मिल रही हैं। समय के साथ राखी का परिवर्तित स्वरूप बाजार में अलग-अलग रूप और रंगों में उपलब्ध है। वहीं ऑनलाइन भी राखियों की रेंज उपलब्ध है। परंपरागत रूप से बहनें अपने भाई को रेशम का एक धागा बांधकर इस पर्व को मनाती रही हैं, लेकिन अब इनकी जगह नए डिजाइन वाली आकर्षक राखियों ने ले ली है। शहर के बाजार में इस समय रक्षाबंधन का रंग तेजी से चढ़ रहा है। बाजारों में एक से बढ़कर एक सुंदर राखियां अलग-अलग दामों में उपलब्ध है। इन राखियों को बहनें दूर दराज रहने वाले अपने भाइयों को पोस्ट कर रही हैं। इसके अलावा सरहद पर तैनात जवानों को भी पहले से राखी भेजना शुरू कर दी हैं! ताकि उन तक समय से पहले पहुंच सके
ऐसे में पर्व को यादगार बनाने में बहन और भाई दोनों पूरी तैयारी में जुट गए हैं। एक ओर जहां बहनें भाइयों की कलाई सजाने के लिए राखियों की खरीदारी में जुट चुकी हैं! तो भाई भी बहनों को उपहार स्वरूप देने के लिए गिफ्ट आइटमों की खरीददारी करने में लगे हुए हैं। कुछ लोग तो मोटरसकिल पर अपने परिवार को ले जाते दिखे जिन्हें न ही चालान का डर था नहीं दुर्घटना का बस अपनी मस्ती में जाते दिखे।