ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज
भावाधस 56 वा स्थापना दिवस वाल्मीकि समाज को अच्छे स्वास्थ्य शिक्षा एवं स्थाई रोजगार की अहम आवश्यकता: वीरोतम दीप लव
May 27, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
दैनिक अयोध्या टाइम्स संवाददाता,रामपुर- भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज के आदर्श कॉलोनी सिविल लाइन स्थित कार्यालय पर भावा धस का 56 वा स्थापना दिवस मनाया गया। सर्वप्रथम भगवान वाल्मीकि जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर भावाधस के राष्ट्रीय निदेशक वीरोतम दीप लव  द्वारा किया गया। इस अवसर पर वीरोतम दीप लव  राष्ट्रीय निदेशक ने कहा कि भावाधस का मूल उद्देश्य देश के कोने कोने में सक्रिय कार्यकर्ताओं के जरिए वाल्मीकि समाज से अंधविश्वास,नशाखोरी,अनपढ़ता जैसी कुरीतियों का त्याग करा कर कौम को शिक्षित बनाना है। जिससे समाज विकास कर सकें। भावाधस आज देश के 20 राज्यों में संगठन सक्रिय रुप से समाज हित में उत्थान हेतु कार्य कर रहा है। संगठन समाज में फैली नशाखोरी,आडंबर जैसे भूतपूजा अंधविश्वास को समाप्त कर शिक्षा के प्रति जागरूक करने के लिए प्रयासरत है क्योंकि शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम है जिसके जरिए समाज धार्मिक, सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक क्षेत्र में आगे बढ़ सकता है। समाज की तरक्की से ही विकास का रास्ता तैयार होगा। सरकार कोई भी वाल्मीकि समाज के स्वास्थ्य , शिक्षा, विकास को प्राथमिकता देनी चाहिए। सरकारों की अनदेखी के कारण ही वाल्मीकि समाज देश में सबसे निम्न स्तर पर है। कौम को अच्छे स्वास्थ्य एवं शिक्षा की बहुत आवश्यकता है।वाल्मीकि समाज की गंभीर समस्याओं पर सरकार को ध्यान देना चाहिए। दलितों में अति दलित वाल्मीकि समाज की सरकारी योजनाओं को कोई लाभ नहीं मिल पाता वाल्मीकि समाज के बच्चों की प्रारंभिक शिक्षा से लेकर स्नातकोत्तर एवं जो भी प्रोफेशनल कोर्स करना चाहते हैं उनकी फीस निशुल्क होनी चाहिए।वाल्मीकि समाज ज्यादातर नगर पालिकाओं में सेवारत है। उनके गंभीर  कार्य को देखते हुए हर महा उनका स्वास्थ्य परीक्षण, मेडिकल कैंप लगाकर होना चाहिए। देश में कार्यरत संविदा एवं ठेका सफाई कर्मियों को स्थाई किया जाना अति आवश्यक है। सभी क्षेत्रों में सरकारी हो या प्राइवेट वाल्मीकि समाज का आरक्षण अलग होना चाहिए। राजनीतिक क्षेत्र में वाल्मीकि समाज का स्थान बिल्कुल शून्य है। उसकी भागीदारी के लिए एमपी, विधायक विभिन्न आयोगों में मनोनयन होना चाहिए क्योंकि समाज की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं है कि वे कोई भी चुनाव की तैयारी कर सकें भावधस संगठन के कार्यकर्ता समाज की समस्याओं के निराकरण एवं अधिकारों की प्राप्ति के लिए रात दिन प्रयासरत हैं। इस अवसर पर मुख्य रूप से रामराज एडवोकेट कानूनी सलाहकार, अनिल राज, दिव्यांशु दीप, दिनेश मानव, संजय कुमार मुख्य रूप से उपस्थित थे ।