ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज दशहरा व दिवाली विशेष
बीआरडी के चार और डॉक्टरों सहित पांच लोग कोरोना की चपेट में, अब तक 144 संक्रमित
June 10, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • उत्तर प्रदेश
गोरखपुर। मंगलवार को गोरखपुर के कुल 206 नमूनों की जांच हुई। इसमें 202 निगेटिव व चार में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। सभी चारो संक्रिमत बाबा राघव दास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर हैं। इसके अलावा संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडकल साइंसेज, लखनऊ में भर्ती उरुवा के एक व्यक्ति में कोरोना संक्रमण  मिला। अब जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 144 हो गई है। इसमें 51 ठीक होकर घर जा चुके हैं। आठ की मौत हो चुकी है। 85 का इलाज चल रहा है।
संत कबीरनगर में कोरोना के दो नए केस, अब तक 155 संक्रमित
संतकबीर नगर जिले में मंगलवार को दस लोगों की जांच रिपोर्ट आई। इसमें से आठ निगेटिव मिले। हैंसर ब्‍लाक के जिगिना गांव का 26 वर्षीय एक युवक और बघौली ब्‍लाक के भैंसठ गांव के 39 वर्षीय व्‍यक्‍ति कोरोना संक्रमित मिले। जिले में संक्रमितों की संख्‍या बढकर 155 हो गई है। कोरोना से सात लोगों की मौत भी हो चुकी है।
सिद्धार्थनगर में कोरोना के तीन नए केस, निगेटिव आई 177 की रिपोर्ट
बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर से मंगलवार को सिद्धार्थनगर के 180 लोगों की रिपोर्ट जारी की गई। इसमें 177 निगेटिव और तीन पॉजिटिव पाए गए हैं।  जिले में अब तक पॉजिटिव मरीजों की संख्या 151 हो गई है।कुल 98 लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक छह लोगों की मौत हुई है।
जिले में 47 एक्टिव केस
जिले में 47 एक्टिव केस हैं। अब तक 3655 लोगों की जांच हुई है, इसमें 3171 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 210 लोगों के जांच रिपोर्ट अभी आनी शेष है। पॉजिटिव मरीजों में खेसरहा ब्लाक के सेमरहना गांव निवासी 32 वर्षीय युवक है। वह मुम्बई से आया था। जांच के बाद उसे होम क्वारंटाइन किया गया था। अन्य दो मरीज बढ़नी ब्लाक के हैं। जिनमें जलालपुरवा गांव की 30 वर्षीय महिला शामिल है। वह कुछ दिन पहले गुजरात से घर आई थीं। उसे होम क्वारंटाइन किया गया था। तीसरा मरीज जोकबुन्दा का निवासी 34 वर्षीय युवक है। वह मुंबई से लौटा था। बुखार होने पर उसकी जांच कराई गई तो पॉजिटिव मिला। पॉजिटिव मरीजों को बर्डपुर सीएचसी में आइसोलेट किया गया है। इस वक्त सीएचसी बर्डपुर में 11 मरीज भर्ती हैं। संतकबीर नगर में सात, बस्ती के रुधौली में 17, एल-टू फैसेल्टी बस्ती में नौ, बीआरडी मेडिकल कालेज में दो एवं एसजीपीजीआइ लखनऊ में एक मरीज का इलाज हो रहा है।
मेडिकल कॉलेज की बड़ी लापरवाही ; नहीं लिया कोरोना संदिग्‍ध का सैंपल, स्वजनों को सौंप दिया शव
गोरखपुर के खजनी के धनईपुर निवासी एक व्यक्ति की मौत पर बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में सैंपल नहीं लिया गया। दो दिन इंतजार करने के बाद परिजनों ने उनका अंतिम संस्कार सोमवार को राजघाट पर करा दिया। कॉलेज प्रशासन ने कोविड 19 प्रोटोकाल के तहत शव सील पैक कर सौंप दिया और शव वाहन से राजघाट भिजवा दिया था।
मुंबई से आने के बाद हुई थी मौत
बांसगांव के धनईपुर निवासी 64 वर्षीय बृजराज साहनी 22 मई को मुंबई से आए थे। चार दिन पहले उनकी तबीयत खराब हुई तो बांसगांव में दवा कराए। रविवार को तबीयत ज्यादा खराब होने पर परिजन उन्हें लेकर गीडा में क्वारंटाइन सेंटर डेंटल कॉलेज पहुंचे। वहां मरीज की स्थिति देखते हुए उन्हें मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। वहां पहुंचने पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इसके बाद परिजनों ने कोरोना जांच की मांग की। कॉलेज प्रशासन ने शव को सुरक्षित रखवा दिया, लेकिन जांच नहीं कराई।
मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य ने कहा
मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. गणेश कुमार व सीएमओ डॉ. श्रीकांत तिवारी ने कहा कि केवल भर्ती मरीजों की मौत होने पर उनकी कोरोना जांच कराई जाती है। ब्राड डेड (बाहर मरे हुए लोगों) की जांच नहीं कराई जाती है। मेडिकल कॉलेज पहुंचने के पूर्व मरीज की मौत हो चुकी थी। शव का कोविड 19 प्रोटोकाल के तहत अंतिम संस्कार करा दिया गया।