ALL उत्तर प्रदेश बिहार मध्य प्रदेश लेख कहानी कविता अन्य खबरें न्युज दशहरा व दिवाली विशेष
बच्चों से सीखो
May 23, 2020 • Brajesh Kumar Mourya • कविता
 
 गिरकर उठना उठकर रोना, फिर मुस्कुराना
                  बच्चों से सीखो
अपनी मस्ती में खोए रहना, छल कपट से दूर रहना
                  बच्चों से सीखो
बिना रुके बिना झुके कदम आगे बढ़ाते रहना
                 बच्चों से सीखो
 दिनभर की चिंता छोड़कर, चैन से सो जाना
                  बच्चों से सीखो 
किसी बात को दिल पर ना लेना अपने में मस्त रहना 
                  बच्चों से सीखो
आंखों में सच्चाई बसाना, वाणी से मीठास चखाना
                  बच्चों से सीखो 
खुद हंस के सबको हंसाना, मासूम अदाओं से गुदगुदाना 
                   बच्चों से सीखो
भोली सी सूरत मासूम चेहरा उनका, सिखाता है सरल रहना
                   बच्चों से सीखो
अपनी कामयाबी से उत्साहित होकर आगे बढ़ना
                    बच्चों से सीखो